Acharya Sachin Shiromani Ji

जानिए टोटल राशिफल ज्योतिर्विंद आचार्य सचिन शिरोमणि से To subscribe click this link – https://www.youtube.com/channel/UCDWLdRzsReu7x0rubH8XZXg?sub_confirmation=1 If You like the video don't forget to share with others & also share your views Google Plus : https://plus.google.com/u/0/+totalbhakti Facebook : https://www.facebook.com/totalbhaktiportal/ Twitter : https://twitter.com/totalbhakti/ Linkedin : https://www.linkedin.com/in/totalbhakti-com-78780631/ Dailymotion - http://www.dailymotion.com/totalbhakti Read More
  • "Be determined but not obstinate. Be brave but not impulsive. Be kind but not weak. Be silent but not arrogant. Be clever but not cunning. Be patient but not irresponsible. Show respect but do not be a coward. There should be sweetness but not flattery. There should be justice but not a feeling of revenge."- Daati Maharaj

  • A Self-realized person does not depend on anybody for anything. -Bhagavad Gita

  • To the illumined man or woman, a clod of dirt, a stone, and gold are the same. -Bhagavad Gita

  • धर्म सबसे उत्तम मंगल है। अहिंसा, संयम और तप ही धर्म है। महावीरजी कहते हैं जो धर्मात्मा है, जिसके मन में सदा धर्म रहता है, उसे देवता भी नमस्कार करते हैं।

  • In battle, in the forest, at the precipice in the mountains, On the dark great sea, in the midst of javelins and arrows, In sleep, in confusion, in the depths of shame, The good deeds a man has done before defend him -Bhagavad Gita

  • Everything has been accomplished in this very life by those whose mind is set in equality. -Bhagavad Gita

  • Love is the Bindu—the centre-point of life.

  • Meditation doesn't lead you to silence; meditation only creates the situation in which the silence happens. And this should be the criterion-that whenever silence happens laughter will come into your life. A vital celebration will happen all around.

  • The disunited mind is far from wise; how can it meditate? How be at peace? When you know no peace, how can you know joy. -Bhagavad Gita

  • सत्य के बारे में भगवान महावीर स्वामी कहते हैं, हे पुरुष! तू सत्य को ही सच्चा तत्व समझ। जो बुद्धिमान सत्य की ही आज्ञा में रहता है, वह मृत्यु को तैरकर पार कर जाता है।

  • Little by little, through patience and repeated effort, the mind will become stilled in the Self. -Bhagavad Gita

  • गरीब व असहाय व्यक्ति की सेवा ही सच्ची सेवा है ।

  • लिया दिया तेरे संग चलेगा, धर्म कर्म का नाता है, साई नाम की चिंता करले, देने वाला दाता है । घट में गंगा, घट में यमुना, घट ही में गुरु का द्वारा है, घट ही में लागे

  • Fear not what is not real, never was and never will be. What is real, always was and cannot be destroyed. -Bhagavad Gita

  • Delusion arises from anger. The mind is bewildered by delusion. Reasoning is destroyed when the mind is bewildered. One falls down when reasoning is destroyed.Bhagavad Gita

  • मानव जीवन तभी मंगलमय हो सकता है जब जीवन में संतों, महापुरुषों, पीर पैंगबरों द्वारा दिए गए संदेश को जीवन में उतारा जाए।

  • The faith of each is in accordance with one's own nature. -Bhagavad Gita

  • A man's own self is his friend. A man's own self is his foe. -Bhagavad Gita

  • I look upon all creatures equally; none are less dear to me and none more dear. But those who worship me with love live in me, and I come to life in them. -Bhagavad Gita

  • You too are a Buddha – the only difference is that you are asleep.

  • My vision is a violence-free stress free world.

  • One feels infinite bliss that is perceivable only through the intellect, and is beyond the reach of the senses. After realizing Brahman, one is never separated from absolute reality. -Bhagavad Gita

  • Generate Energy to prevent Allergy

  • Out of compassion I destroy the darkness of their ignorance. From within them I light the lamp of wisdom and dispel all darkness from their lives. -Bhagavad Gita

  • One gradually attains tranquillity of mind by keeping the mind fully absorbed in the Self by means of a well-trained intellect, and thinking of nothing else. -Bhagavad Gita

  • Living in solitude, eating lightly, controlling the thought, word, and deed; ever absorbed in yoga of meditation, and taking refuge in detachment. -Bhagavad Gita

  • Man is made by his belief. As he believes, so he is. -Bhagavad Gita

  • When meditation is mastered, the mind is unwavering like the flame of a lamp in a windless place. -Bhagavad Gita

  • There is nothing lost or wasted in this life. -Bhagavad Gita

  • The body is mortal, but the person dwelling in the body is immortal and immeasurable. -Bhagavad Gita

  • A Karma-yogi performs action by body, mind, intellect, and senses, without attachment (or ego), only for self-purification. -Bhagavad Gita

  • Neither in this world nor elsewhere is there any happiness in store for him who always doubts. -Bhagavad Gita

  • There is neither this world nor the world beyond nor happiness for the one who doubts. -Bhagavad Gita

  • An intelligent person does not take part in the sources of misery, which are due to contact with material senses. Such pleasures have a beginning and an end, and so the wise man does not delight in them. -Bhagavad Gita

  • The wise sees knowledge and action as one; they see truly -Bhagavad Gita

  • Perform your obligatory duty, because action is indeed better than inaction. -Bhagavad Gita

  • The Spiritual Master grasps your hand and plunges with you into the depths of the great waters of life. He allays the severity and hardships of the inner journey towards divinity and Godliness.

  • Prayer and the seed of faith are similar in nature. Both have nothing within, but have the potential of creating everything.

  • Vipassana simply means witnessing. And that has been my whole life's effort: to teach you awareness, witnessing, alertness, consciousness. I am using contemporary words.

  • शनि शत्रु नही मित्र हैं. वे कर्म के आधार पर भाग्य की रचना करने वाले देव हैं.

  • महावीर की अहिंसा केवल सीधे वध को ही हिंसा नहीं मानती है, अपितु मन में किसी के प्रति बुरा विचार भी हिंसा है।

  • The enlightened one should inspire others by performing all works efficiently without attachment. -Bhagavad Gita

  • One who abandons all desires and becomes free from longing and the feeling of I and my attains peace. -Bhagavad Gita

  • The mind acts like an enemy for those who do not control it. -Bhagavad Gita

Articles

  • 18 अप्रैल 2018 से शनि होंगे वक्री,जाने किन राशिवालों की खुलेगी किस्मत ?

    संदीप कुमार मिश्र : शनी की बदलेगी चाल...होगा कैसा प्रभाव...क्या कहते हैं आपके सितारे...किन राशिवालों की खुल जाएगी किस्मत...दरअसल 18 अप्रैल से यानी बुधवार से शनि वक्री होने जा रहे है। हमारे ज्योतिष शास्त्र के अनुसार 18 अप्रैल को शनी धनु राशि में वक्री होगा जो कि गुरुवार प्रात: 6 सितंबर 2018 की शाम तक वक्री रहेगा।इस प्रकार से शनि 142 दिनों के लिए वक्री होने जा रहे हैं।

    आईए जानते हैं कि शनि के वक्री होने का 12 राशियों पर क्या होगा असर

    मेष राशि:

    करियर रोजगार में उतार चढ़ाव बना रह सकता है।अत्यधिक परिश्रम की आवश्यकता है।

    वृष राशि:

    वृष राशि वालों को पारिवारिक तनाव का सामना करना पड़ सकता है।संबंधों में खटास ना आने दें,ज्यादा बोलने से बचें,वाणी पर संयम रखें।

    मिथुन राशि:

    शनि के वक्री होने से मिथुन राशि वालों को लाभ मिलेगा, कार्य में सफलता भी मिलेगी। मान सम्मान बढ़ेगा और संभव है कोई शुभ समाचार अचानक मिल सकता है।

    कर्क राशि:

    कर्क राशि वालों को पारिवारिक परेशानी दुखी कर सकती है। परिजनों के साथ किसी मुद्दे पर मतभेद हो सकता हैं।चुप रहना भी संबंधों को कभी कभी बेहतर बनाता है,अन्यथा ज्यादा बोलने से बचें।

    सिंह राशि:

    इस साल प्रेम विवाह के प्रबल योग बन रहे हैं,कुछ मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है,पारिवारिक नाराजगी भी झेलनी पड़ सकती है,सामंजस्य बनाकर आगे बढ़ें।

    कन्या राशि:

    कन्या राशि वालों के लिए ये समय बेहतर और लाभदायक होगा।अकस्मात धन की प्राप्ति का योग बन रहा है। इस राशि के लोगों को उनके कामों में परिवार के लोगों का पूरा सहयोग मिलेगा और सफलता कदम चूमेगी।

    तुला राशि:

    दृढ़ निश्चय के साथ सफलता मिलेगी। मानसिक तनाव से बचें। छोटी या लंबी दूरी की यात्रा पर जाने की संभावना भी है।

    वृश्चिक राशि:

    थोड़ा मुश्किलों भरा दौर है। पारिवारिक अशांति बढ़ सकती है। रिश्तों में दरार भी आ सकती है। संभव है परिवार से दूर भी रहना पड़े,धैर्य रखें,समय हर घाव भर देता है।

    धनु राशि:

    इस समय आपको मानसिक तनाव और समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। हालांकि पारिवारिक जीवन में आपके भाई-बहनों को खुशियां और समृद्धि प्राप्त होगी।जिससे सुख की अनुभूति होगी।

    मकर राशि:

    स्वास्थ्य का विशेष ख्याल रखें नहीं तो परेशानी बढ़ सकती है। धन हानि हो सकती है। खर्चों में वृद्धि हो सकती है नियंत्रण रखें।एक सुखद विदेश यात्रा के योग भी बन रहे हैं। कमाई के कई नए अवसर मिलने का योग बन रहा है। यह समय आपके लिए बहुत अनकूल साबित होगा।

    कुंभ राशि:

    शनि के वक्री होने से कुंभ राशि के लोगों को कहीं से धन प्राप्त हो सकता है। कुंभ राशि के लोगों को उनकी संपत्ति की वजह से भी धन लाभ का प्रबल योग बन रहा है।

    मीन राशि:

    साल 2018 में आपकी आय के श्रोत में कमी आ सकती है और खर्च बढ़ सकता है। इसलिए धन की बर्बादी से बचें और संयम रखें।हां थोड़ी देरी से ही सही लेकिन सफलता मिलने के योग बन रहै हैं।

     

    http://sandeepaspmishra.blogspot.in/2018/04/18-2018.html

     

    To subscribe click this link – 

     

  • जानिए 2018 में क्या कहती है आपकी राशि:बता रहे हैं प्रसिद्ध ज्योतिर्विद् आचार्य सचिन जी

    संदीप कुमार मिश्र: साल 2018 में हर कोई उम्मीद करेगा कि ईश्वर उसकी आशाओं,आकांक्षाओं के अनुरुप सफलता दें,घर में सुख शान्ति रहे।इस लिहाज से आपके मन में ये ख्याल अवश्य आ रहा होगा कि नव वर्ष आपके लिए कैसा होगा,कौन सा कार्य आप करें,जिसमें आपको सफलता मिले,उन्नति और तरक्की मिले।तो चलिए आपको बताते हैं साल 2018 का राशिफल-

     

    मेष राशि: मेष राशि वालों के लिये यह वर्ष महत्वपूर्ण रहने वाला है। इस साल आपकी सकारात्मक सूझ-बूझ (सोच) आपके जीवन में सकारात्मक परिणाम लायेगी। चतुर्थ भाव में राहु के कारण घर से दूर भी जाना पड़ सकता है। कार्य स्थल पर 2018 में कुछ वृद्धि की संभावना है। इस वर्ष पती पत्नि आपसी संबंधों मे कुछ कटुता न आने दें। प्रेम के मामलो में मिश्रित परिणाम सामने आयेंगे सप्तम भाव का गुरू भी आपसी सामझस्य बनाने में काफी मददगार साबित होगा। आपके शिक्षक आपकी मेहनत को सराहेंगे। अपना ध्यान लक्ष्य पर ही रखें। बच्चों की सेहत मे उतार-चढाव बना रहेगा। माता पिता का भरपूर सहयोग मिलेगा। ह्रदय संबधी/ डायबीटिज संबंधी लोगो को सावधान रहना होगा। योग/ध्यान का सहारा लें।

    उपाय: प्रातःकाल उगते हुए सूर्य को तांबे को पात्र से अर्ध्य दें मंगलवार/शनिवार को बंदरो को गुड़ चना खिलायें, घर में मांगलिक कार्यक्रम अवश्य करायें।

    शुभ रंग: नारंगी,

    भाग्य प्रतिशत: 70

     

     वृष राशि: वृष राशि वालों का यह वर्ष 2018 मिश्रित परिणाम लेकर आया है, अच्छे परिणाम के लिये मेहनत ज्यादा करनी होगी राशि से आठवें भाव में शनि रास्तों में बाधा डालेगा लेकिन सदमार्ग पर रहना ही सटीक उपाय होगा। अपने क्रोध पर नियंत्रण रखें। साल के शुरूआत में Office में किसी से न उलझे वरना नुकसान होगा। कारोबार में किसी पर विश्वास न करें धार्मिक यात्रा पर जायेंगे । October2018 के बाद आर्थिक स्थिती मे सुधार होगा। कार्यों को लेकर यात्रायें लाभ देगी। विधार्थीयो को सफलता सूझ-बूझ से ही मिलेगी अपने पिता से सामंजस्य बनाना काफी लाभदायक साबित होगा। पैरों से संबंधित रोग परेशान कर सकते है। सिर दर्द/ठण्ड की परेशानी रह सकती है।

    उपाय: मंगलवार/शनिवार हनुमान जी को सिंदूर चढायें।शनिवार को भैरव मंदिर अवश्य जायें। जरूरतमंदों की मदद करें।

    शुभ रंग: लाल,

    भाग्य प्रतिशत: 55

     

    मिथुन राशि: मिथुन राशि वालो का वर्ष 2018 शानदार रहेगा। व्यापारिक दृष्टि से काफी सकारात्मक परिणाम साल के मध्य तक मिलेंगे। दाम्पत्य जीवन में कुछ मनमुटाव देखने को मिलेगा। किसी से भी अपशब्दों का इस्तेमाल आपको परेशानी में डाल सकता है। आय के नए-नए स्त्रोत खुलेंगे। प्रेम संबंधी मामलों में यह साल शुभ रहेगा। दूषित खान-पान से (Street Food) बचें। परिवार के अकारण कलह भी (द्वितीय भाव) राहु अवश्य करायेगा। वांणी पर संयम हर तरीके से शुभता लायेगा। अकारण खर्चा भी बढ सकता है घबरायें नही।विद्यार्थी अपना कार्य समय पर करने की आदत डालें अन्यथा परिणाम शुभ नही होंगे। अपनी दवा साथ में रखें। अनिन्द्रा/तनाव बढ़ा सकता है। Doctor की सलाह लें।

    उपाय: विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ नित्य करें। किन्नरों का आशीर्वाद लें। पक्षियों को बाजरा डालें।

    शुभ रंग: नीला काला,

    भाग्य प्रतिशत: 60

     

     कर्क राशि: कर्क राशि वालो का 2018 मिश्रित परिणाम लेकर आया है। आपकी राशि पर राहु का प्रभाव विचारों मे भिन्नता लायेगा। अपनों से बात करते समय सावधानी रखें। स्वभाव में अचानक परिवर्तन भी कई बार परेशानी में डाल सकता है। माता-पिता की सेहत पर ध्यान जरूर दें। पेट की समस्या को नजरअंदाज न करें। व्यापार  में सोच-समझकर ही निवेश करना लाभप्रद रहेगा। समय रहते कानून की मदद लें। खान-पान का विशेश ध्यान रखें। पार्टनरशिप सोच कर ही करें अन्यथा धोखा होगा। विद्यार्थी अपना ध्यान शिक्षा पर केन्द्रित करें। अपने मित्रों के साथ भी समय बितायें। प्रेम संबंधो मे कुछ खटास आ सकती है। पुरानी बिमारी जोड़ो का दर्द परेशान करेगा। किड़नी की समस्या/शुगर पर कन्ट्रोल रखें।

    उपाय: भगवान शिव का जाप करें, गर्म वस्त्रों का दान करें। काला तिल उड़द/कोयला का दान धार्मिक स्थल पर करें।

    शुभ रंग: सफेद,

    भाग्य प्रतिशत: 58

     

    सिंह राशि : सिंह राशि वालों के लिए साल 2018 कई सुनहरे मौके लेकर आएगा। इस साल धार्मिक कार्यो में आपका समय बीतेगा। परिवार मे छोटे-भाई बहनों की सेहत से संबंधित समस्या खत्म होगी। दाम्पत्य जीवन में जीवन साथी से अचानक वाद-विवाद परेशानी में डाल सकता है। विचारों और वांणी मे सादगी अवश्य रखें, वरना पछताना पड़ सकता है। प्रात: जल्दी उठने की आदत डालना आपको हर कार्य में सफलता दिलायेगा। पार्टनशिप से आपको फायदा भी मिलेगा लेकिन साल के मध्य के बाद। विद्यार्थियों को भरपूर सफलता मिलेगी। माता-पिता का निरादर आपको बड़ी परेशानी में अवश्य डाल देगा। प्रेम संबंधों में सफलता मिलेगी। गर्भवती महिलाओं को सतर्कता बरतनी होगी। समय पर डाक्टर की सलाह लें। गले से और नसों से संबंधित परेशानी बढ़ सकती है। 

    उपाय: उगते सूर्य को अर्घ्य दें, नेत्रहीन लोगों को मीठा भोजन बांटे, दवा का वितरण करें।

    शुभ रंग: मेहरून,

    भाग्य प्रतिशत: 65

     

     

    कन्या राशि: कन्या राशि वालों के लिए साल 2018 विचारों में सकारात्मक प्रभाव लेकर आएगा। चतुर्थ भाव का शनि आपको परेशानी में डालकर एक अलग निखार देगा। कड़ी मेहनत के बाद सफलता मिलेगी। पैसों का लेन-देन सावधानी पूर्वक करें। परिवार में माहौल शांति पूर्ण रहेगा। विद्यार्थियों को कड़ी मेहनत की आवश्यकता होगी। नौकरीपेशा लोगों की नौकरी में बदलाव से लाभ मिलेगा। करियर में यह वर्ष ठीक-ठाक परिणाम देगा।मित्रों से संबंध पहले से बेहतर होगें। व्यापार में निवेश अनुभवी लोगों की सलाह से करें। विद्यार्थियों को कुछ समस्या बनी रह सकती है। सूझ-बूझ से किया कार्य हर परेशानी को खत्म करेगा। Digestive plub आपको समस्या में डाल सकती है। चोट लगने का भय रहेगा,इसीलिये लापरवाही न करें।

    उपाय: मां दुर्गा के कवच का पाठ करें, कम्बल का दान अवश्य करें।

    शुभ रंग: हरा,

    भाग्य प्रतिशत: 71

     

     

    तुला राशि: तुला राशि वालो के लिए वर्ष 2018 काफी महत्वपूर्ण रहेगा। साल के शुरूआत में काफी जोश/उर्जा से आप भरे रहेंगे। लेकिन आपकी जल्दबाजी/क्रोध आपके सारे कार्यों पर पानी फेर सकती है। करियर के लिहाज से नौकरी/व्यापार में हर तरीके से लाभदायक रहने वाला है। सेहत का ध्यान रखाना भी जरूरी होगा। साल के मध्य के बाद विदेश यात्रा काफी लाभ देगी। जमीन-जायदाद को लेकर निवेश बहुत सावधानी पूर्वक करना होगा। धन की स्थिती अप्रैल 2018 से पहले से बेहतर हो जाएगी। विद्यार्थी पढ़ने के लिये विदेश जा सकते है। उनका यह स्वप्न अवश्य पूरा होगा। जीवन साथी से कुछ मनमुटाव आपके कार्यों में विघ्न डाल सकता है। प्रेम संबंधी मामलों में सतर्क रहना होगा। खान-पान की आदतों पर अवश्य ध्यान दें। पीठ दर्द/जोड़ो का दर्द परेशान कर सकता है।ध्यान रखें।

    उपाय: मां लक्ष्मी को पंचमेवा का भोग लगायें। सुहागन स्त्रीयों को वस्त्रादि दान दें।

    शुभ रंग: गुलाबी,

    भाग्य प्रतिशत: 80

     

    वृश्चिक राशि: वृश्चिक राशि वालों के लिए साल 2018 उतार-चढाव भरा रहेगा। वित्तीय मामलो में सावधानी अवश्य बरतनी होगी।सुअवसर आपके सामने होंगे, लेकिन जल्दबाजी कार्यों को बिगाड़ सकती है। पैसा कमाने के उद्धेश्य से समय शुभ है। लेकिन व्यर्थ में पैसा न खर्चें। विद्यार्थी अपनी मेहनत से अपने लक्ष्यों को आसानी से प्राप्त कर पाएंगें। समय का सदुपयोग उन्हें सफल बनायेगा। व्यापारिक लेन-देन सोच समझकर ही करना होगा। प्रेम संबंधो को लेकर वृश्चिक राशि के लोग थोड़ा चिंतित रह सकते है। आंखो से संबंधित रोगी तथा ह्रदय रोगी इस साल लापरवाही न बरतें। साल के मध्य के बाद आर्थिक स्थिती पहले से बेहतर हो जायेगी। निवेश सोच समझकर ही करें।

    उपाय: सुंदरकाण्ड का पाठ मंगलवार को करें। शहद से शिवलिंग का अभिषेक करें।

    शुभ रंग: सफेद,

    भाग्य प्रतिशत: 69

     

    धनु राशि: धनु राशि वालों को साल 2018 मन मुताबिक परिणाम देगा। व्यापारिक मामलों में नये मुकाम हासिल करेंगे आप।आपकी राशि पर शनि का गोचर अधिक कर्म/मेहनत करने की प्रेरणा के साथ-साथ लाभ भी दुगना देगा। लेकिन आप गलत कार्यों पर पैसा न खर्चे। छोटे भाई-बहनों से वाद-विवाद हो सकता है। परिवार में खुशी का माहौल बनाये रखें।जल्द ही कर्ज की स्थिती से बाहर निकल आएंगें। विद्यार्थी मेहनत खूब करेंगें, लेकिन परिणाम में कुछ कमी आयेगी। नई नौकरी वाले लोगों के लिये समय शुभ रहेगा। माता पिता का भरपूर सहयोग मिलेगा। नौकरी में प्रमोशन मार्च के बाद दिखेगा।बच्चों से संबंध पहले से बेहतर होंगें। परिवार में किसी व्यक्ति की बिमारी पर पैसा खर्च हो सकता है। बाहर के खाने से बचें, व्यायाम, योग को अपनी दिनचर्या में शामिल करें।

    उपाय: सतनाज का दान करें। पीपल के पेड़ के नीचे दीया जलायें।

    शुभ रंग: पीला,

    भाग्य प्रतिशत: 59

     

     मकर राशि: मकर राशि वालों के लिए साल 2018 शुभ परिणाम देगा। लेकिन इस वर्ष मेहनत अधिक करनी होगी। लाभ मेहनत पर ही निर्भर रहेगा।संभव है मार्ग में कई बाधायें आपका रास्ता रोकेंगी। लेकिन आप बाहर निकल आयेंगे। अपने खर्च पर रोक लगाएं वरना कर्ज की स्थिती बन सकती है। व्यापार में सोच-समझकर निवेश करें।अपनी सेंहत का ध्यान रखना भी जरूरी होगा। वरना गैस/अपच की परेशानी बढ़ सकती है।परिवार का भरपूर सहयोग आपकी सभी  परेशानी दूर कर देगा।इस वर्ष विद्यार्थीयों को अपना लक्ष्य प्राप्त करने में कठिनाई नही होगी। परिवार में माहौल सुखद बना रहेगा। लेकिन पत्नी की सेहत का ध्यान रखें। मित्रता में सतर्कता भी रखें। पैर दर्द/गैस की समस्या परेशानी का सबब बन सकती है ।

    उपाय:गणेश वन्दना रोज करें। भैरव मन्दिर में दूध अर्पण करें।

    शुभ रंग: नीला,

    भाग्य प्रतिशत: 63

     

    कुंभ राशि: कुंभ राशि वालों का 2018 बेहतरीन ही नहीं शानदार भी रहने वाला है।साल 2018 आपके जीवन में सुनहरे अवसर के साथ-साथ लाभप्रद परिणाम भी लेकर आएगा। आय के नऐ-नऐ स्त्रोत मिलेंगे। मतलब मेहनत कम लाभ ज्यादा ।परिवार में स्थिती पहले से बेहतर होगी। व्यापारिक स्थल पर हर तरफ से सहयोगियों का साथ मिलेगा, साल के शुरू में कार्यों में सावधानी रखें वरना नुकसान हो सकता है। अपनी वांणी पर संयम आपको शुभता दिलायेगा। विद्यार्थीयों के लिये समय शुभ रहेगा। अपने माता-पिता/गुरूजनों/बड़ो का भूलकर भी तिरस्कार न करें। अपनी नींद को पूरा करें वरना पेट/गैस से संबंधित परेशानी बढ़ सकती है। वाहन चलाते समय सतर्क रहें,ऐसे पुरानी बीमारी से लोगों को राहत मिलेगी।

    उपाय: पीपल के पेड़ की सेवा करें, गणेश जी को दूर्वा चढ़ायें। बड़ो का सम्मान करें।

    शुभ रंग: काला,

    भाग्य प्रतिशत: 69

     

     

    मीन राशि:  मीन राशि वालों का 2018 बिल्कुल औसत भरा रहेगा। अपने कार्यों को सुनियोजित तरीके से करने पर शुभ परिणाम अवश्य मिलेगा। ग्रहों में परिवर्तन के कारण कार्य स्थल पर थोड़ा बदलाव करना पड़ सकता है। आफिस में होने वाली राजनीति से अपने आपको दूर रखें। अपनी माता की सेहत पर ध्यान दें, तथा परिवार में भी समय अवश्य बितायें जिससे माहौल पहले से बेहतर हो। विद्यार्थीयों की शिक्षा का क्रम ठीक चलेगा, बस कार्यों को समय पर करें। अक्टूबर 2018 के बाद आपको कुछ राहत मिलेगी। पैसों का लेन देन ध्यान पूर्वक ही करें, वरना नुकसान होगा। दूसरो की मदद के लिये हमेशा तैयार रहें तो शुभ परिणाम भी दिखेगा। रिश्तों मे पारदर्शिता अवश्य रखें। अपने वजन को न बढ़ने दें। बाहरी खान-पान से बचें। 

     उपाय:  गुरूवार का व्रत उपवास रखें, पीले चंदन केसर का तिलक करें।

     शुभ रंग: पीला,

    भाग्य प्रतिशत: 59

     

    http://sandeepaspmishra.blogspot.in/2017/12/2018.html

     

    To subscribe click this link – 

    https://www.youtube.com/channel/UCDWLdRzsReu7x0rubH8XZXg?sub_confirmation=1

    If You like the video don't forget to share with others & also share your views

    Google Plus :  https://plus.google.com/u/0/+totalbhakti

    Facebook :  https://www.facebook.com/totalbhaktiportal/

    Twitter  :  https://twitter.com/totalbhakti/

    Linkedin :  https://www.linkedin.com/in/totalbhakti-com-78780631/

    Dailymotion - http://www.dailymotion.com/totalbhakti

Show More >>

Wallpapers

Here are some exciting "Hindu" religious wallpapers for your computer. We have listed the wallpapers in various categories to suit your interest and faith. All the wallpapers are free to download. Just Right click on any of the pictures, save the image on your computer, and can set it as your desktop background... Enjoy & share.